Sukanya Samriddhi Yojana: क्या आपको पता हैं सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में ये बातें

0
11

Sukanya Samriddhi Yojana: केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2015 में बेटियों को बचाने और उनके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) शुरू की थी। यह बेटियों के लिए लघु बचत योजना है, लेकिन उसमें देश की लड़कियों के जीवन को प्रभावित कर आत्म सम्मान का भाव पैदा करने की क्षमता है। बेटी के नाम पर यह बचत खाता किसी भी डाकखाने या निर्धारित सरकारी बैंकों में खोला जा सकता है।

ये चाहिए दस्तावेज

इस योजना के तहत बेटी के नाम बचत खाता खोलना काफी आसान है। इसके लिए — अस्पताल या सरकारी अधिकारी की ओर से जारी किया गया लड़की का जन्म प्रमाण पत्र, लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक के निवास का प्रमाण पत्र पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, बिजली या टेलीफोन बिल, मतादाता पहचान पत्र, राशन कार्ड या भारत सरकार द्वारा प्रदत्त अन्य कोई भी प्रमाण पत्र जिसमें निवास का उल्लेख हो, जमा कर सकते हैं। पैन कार्ड या हाईस्कूल प्रमाण पत्र भी खाता खोलने के लिए मान्य है।

ये हैं योजना की खास बातें
— 18 वर्ष की आयु से पहले लड़की इस पैसे को केवल उच्च शिक्षा या विवाह के लिए ही निकाल सकती है

— बेटी की उम्र 21 वर्ष होने के बाद भी अगर खाता बंद नहीं किया जाता है तो जमा राशि पर ब्याज मिलता रहेगा।

— अगर एक साल तक न्यूनतम 1000 रुपए इस खाते में जमा नहीं किए जाते हैं, तो इस खाते को सक्रिय नहीं माना जा सकेगा।

— डॉर्मेंट अकाउंट को फिर से सक्रिय करने के लिए 50 रुपए पेनल्टी और न्यूनतम राशि जमा किया जा सकता है।

— इस खाते को भारत में कहीं भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

— इस खाते के मैच्यॉरिटी अमाउंट पर इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80 सी के तहत छूट मिलेगी।

— इस खाते से पैसा तभी निकाल सकते हैं जब इसमें कम से कम 14 साल या उससे ज्यादा समय तक पैसा रखा गया हो।