ये माननीय भी कह चुके हैं महिलाओं के लिए अपशब्‍द, किसी ने कहा माल-आईटम तो कोई बोला टंच

0
6

सियासत में महिलाओं पर विवादित बयान कोई नई बात नहीं है, कमलनाथ से पहले भी कई नेता ऐसे बयान दे चुके हैं ।

New Delhi, Oct 20: राजनीति में शब्‍दों की मर्यादा बहुत ही अहम मानी जाती है, लेकिन कई बार माननीय आवेश में बह जाते हैं, कुछ ऐसा कह जाते हैं जो कि स्‍वीकार्य नहीं होता । कई बार महिला राजनेताओं को भी ऐसे अपश्‍ब्‍दों का सामना करना पड़ा जो कि उनके ही विपक्षी नेता उन पर मजाक में कह जाते हैं, पिछले दिनों मध्‍यप्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एक चुनावी सभा में पूर्व मंत्री इमरती देवी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। उन्‍होंने इमरती देवी को आइटम कहा । लेकिन कमलनाथ से पहले भी कई ऐसी बयानबाजी कर चुके हैं, जिनमें एक हमारे प्रधानमंत्री मोदी भी हैं ।

शरद यादव के बिगड़े बोल
साल 2018 में राजस्थान में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए जदयू नेता शरद यादव ने कहा था कि, ‘वसुंधरा को आराम दो, बहुत थक गई हैं। बहुत मोटी हो गई है, पहले पतली थी। हमारे मध्य प्रदेश की बेटी है।’ शरद यादव के इस बयान पर वसंधुरा राजे ने कड़ा एतराज़ जताते हुए कहा था कि वे इस बयान से अपमानित महसूस कर रही हैं।

रंजय निरूपम की बदजुबानी
साल 2012 में एक टीवी बहस के दौरान कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने बीजेपी की स्मृति ईरानी को कहा था, “कल तक आप पैसे के लिए ठुमके लगा रही थीं और आज आप राजनीति सिखा रही हैं।”
मोदी भी पीछे नहीं ..
साल 2012 में नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली में कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्‍कर के बारे में विवादित बयान दे दिया था । उन्‍होने कहा था- ”वाह क्या गर्लफ़्रेंड है। आपने कभी देखी है 50 करोड़ की गर्लफ़्रेंड?” इसपर पलटवार करते हुए शशि थरूर ने कहा था, “मोदी जी मेरी पत्नी 50 करोड़ की नहीं बल्कि अनमोल है, लेकिन आप को यह समझ में नहीं आएगा क्योंकि आप किसी के प्यार के लायक नहीं हैं।”

दिग्‍विजय सिंह का विवादित बयान
साल 2013 में मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने तो अपनी ही पार्टी की सांसद मीनाक्षी नटराजन को टंच माल कह दिया था । उन्‍होंने कहा था- ‘मीनाक्षी नटराजनजी आपकी लोकसभा की सदस्य हैं। गांधीवादी हैं, सरल हैं, ईमानदार हैं, सबके पास जाती हैं। मुझे भी 40-42 साल का अनुभव है। मैं भी पुराना जौहरी हूं। राजनीतिज्ञों को थोड़ी सी बात में पता पड़ जाता है कि कौन फर्जी है और कौन सही है। इनको पूरा सपोर्ट करिए समर्थन करिए।’ दिग्विजय सिंह के इस बयान के लिए विरोधी आज भी उन पर चुटकी लेते नजर आते हैं ।