फेसबुक पर हुआ प्यार, हत्यारी बनीं महिला, पति और बेटे को उतारा था मौत के घाट

0
2

साल 2016 के हाईप्रोफाइल हत्याकांड मामले पर आज कोर्ट ने फैसला सुनाया है। कोर्ट ने इस मामले में सभी तथ्यों और सबूतों को ध्यान में रखते हुए नेत्र परीक्षण कार्यकर्ता ओमप्रकाश यादव और उनके 5 साल के बेटे नितिन की हत्या के मामले में उनकी पत्नी अर्चना यादव और उनके प्रेमी को उम्र कैद की सजा सुनाई है।

गौरतलब है कि यह घटना 4 साल यानि 2016 में घटित हुई थी और इसकी पटकथा एक फेसबुक प्रेम कहानी ने लिखी थी, जिसके तहत अर्चना यादव ने अपने प्रेमी अजय यादव के साथ मिलकर अपने पति और 5 साल के बेटे अनिल को मौत के घाट उतारा था।

up-gorakhpur-woman-brutally-love-on-facebook-than-murders-husband-and-son-with-boyfriend
Social Media

इस मामले में मृतक ओमप्रकाश की मां ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था, जिसके बाद से पुलिस अज्ञात हत्यारों की तलाश में जुट गई थी। ऐसे में लंबी जांच पड़ताल और कार्रवाई के बाद जो सच सामने आया उसने लोगों को ही नहीं बल्कि कानून तक के भी होश उड़ा दिए।

इस मामले की जांच कर रही पुलिस टीम ने बीते 4 सालों में लंबी जांच पड़ताल करते हुए मामले का खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि इस मामले में मृतक ओमप्रकाश और उनके 5 साल के बेटे की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उनकी पत्नी अर्चना ने अपने प्रेमी अजय यादव के साथ मिलकर की थी। इस दौरान 5 साल के बेटे ने उन्हें ऐसा करते हुए देख लिया, जिसके बाद उन्होंने खुद को बचाने के लिए गला दबाकर उसकी भी हत्या कर दी।

up-gorakhpur-woman-brutally-love-on-facebook-than-murders-husband-and-son-with-boyfriend
Social Media

यह मामला काफी हाईप्रोफाइल था। दरअसल जहां एक ओर इस मामले में मृतक का भाई यूपी पुलिस में इंस्पेक्टर था तो वहीं दूसरी और आरोपित मृतक की पत्नी अर्चना का भाई तत्कालीन सीएम की सिक्योरिटी में तैनात था। ऐसे में दोनों पक्ष काफी मजबूत थे।

ऐसे में परिवार वालों ने मामले को कभी ठंडा नहीं पड़ने दिया। वही पुलिस को इस मामले को सुलझाने में काफी लंबा वक्त लगा, लेकिन आखिरकार सुलझा दिया। इसके बाद शनिवार को कोर्ट ने इस मामले में मृतक महिला को उम्र कैद की सजा सुना दी।