यूपी डीजीपी ने जारी किया आदेश, हर फरियादी को मिलेगा प्रार्थना टोकन नंबर

0
5

उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते अपराध के मामलों पर उत्तर प्रदेश डीजीपी ने निर्देश जारी किए हैं, जिसके तहत अब उत्तर प्रदेश में हर थाने पर आने वाले प्रार्थना पत्रों का रिकॉर्ड रखा जाएगा। इसके साथ ही शिकायतकर्ता को प्रार्थना पत्र दायर करने के बाद टोकन नंबर भी दिया जाएगा, जिससे उसकी प्रार्थना पत्र को समय-समय पर प्रेस किया जा सकेगा।

Social Media

प्रार्थना पत्र मामले पर यूपी डीजीपी ने अपना फरमान जारी करते हुए कहा है कि महिला हेल्प डेस्क की व्यवस्था भी इस मामले में अलग से तैयार की जाएगी। साथ ही प्रार्थना पत्र लेने के साथ ही उसे स्कैन कर कंप्यूटर में भी सुरक्षित रखा जाएगा। इसके साथ ही शिकायतकर्ता का पूरा विवरण भी कंप्यूटर में शिकायत प्रार्थना पत्र के साथ ही फीड किया जाएगा। इस दौरान डीजीपी अवस्थी ने इस बात का खासतौर पर ध्यान रखने को कहा है कि महिला डेस्क पर ऐसी दो महिलाओं सिपाहियों को ही तैनात किया जायेगा जो कि व्यवहार में कुशल और मधु भाषी हो।

Social Media

यूपी डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा की इस प्रक्रिया के बाद एक टोकन नंबर जनरेट होगा, जिससे शिकायतकर्ता के साथ ही जांच अधिकारी को भी दिया जाएगा। इस प्रकिया के तहत प्रार्थना पत्र को समय-समय पर ट्रेस किया जा सकेगा। डीजीपी द्वारा यह निर्देश सभी पुलिस कमिश्नर, रेंज के आईजी-डीआईजी और जिलों के पुलिस कप्तानों को भेज दिया गया है।

up-police-update-now-every-complainant-will-get-a-receipt-from-the-police-station
Social Media

इस पूरी प्रक्रिया की जानकारी थाना प्रभारी और संबंधित बीट प्रभारी दोनों को दी जाएगी। इससे पहले ही ऐसी व्यवस्था जिला स्तर पर रेंज स्तर के अधिकारियों ने शुरू की थी। पहली बार डीजीपी हितेश अवस्थी के निर्देशों के बाद इसे प्रदेश स्तर पर लागू किया जा रहा है।