बेटी की पढ़ाई के लिए मजदूर ने बेच दी गाय, मसीहा बनकर सामने आया ये शख्स, गिफ्ट की नई गाय

0
1

बेटी की आंखों में थे डॉक्टर बनने के सपने तो पिता ने अपनी गरीबी को बेटी के सपनों के आड़े नहीं आने दिया। यह कोई कहानी नहीं है बल्कि ओडिशा के एक गांव की असल घटना है, जहां एक किसान ने अपनी बेटी की पढ़ाई के लिए घर की कमाई का एकमात्र साधन गाय बेच दी और फोन खरीदा ताकि गरीबी बेटी की पढ़ाई के आड़े ना आये। क्या है यह पूरी कहानी आइए हम आपको बताते हैं।

interesting-story-man-gifts-a-new-cow-to-man-he-sold-his-cow-to-buy-phone-for-daughter-classes
Social Media

उड़ीसा के दूत कादीपुर गांव के गणेश्वर में रहने वाले एक गरीब किसान ने अपनी गाय इसलिए बेच दी क्योंकि बिना फोन के बेटी की ऑनलाइन क्लासेस रुकी हुई थी। दरअसल कोरोना महामारी के चलते इन दिनों ज्यादातर स्कूल बंद है। ऐसे में पढ़ाई का स्तर ऑनलाइन क्लासेज के ऊपर टिका हुआ है। ऑनलाइन क्लासेस लेने के लिए यह जरूरी है कि आपके पास स्मार्टफोन हो।

interesting-story-man-gifts-a-new-cow-to-man-he-sold-his-cow-to-buy-phone-for-daughter-classes
Social Media

इस मुश्किल घड़ी में गरीब किसान के घर में पैसे नहीं थे, लेकिन बेटी की पढ़ाई उनकी सबसे पहली प्राथमिकता थी। बेटी के सपने पूरे करना उनकी जिंदगी का सबसे अहम हिस्सा था। ऐसे में उन्होंने अपनी गाय बेच देना बेटी की पढ़ाई से ऊपर रखा। वहीं इस मामले के बारे में जब ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे को पता चला तो उन्होंने इसकी कहानी अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट डालकर शेयर किया।

interesting-story-man-gifts-a-new-cow-to-man-he-sold-his-cow-to-buy-phone-for-daughter-classes
Social Media

इस कहानी को पढ़ने के बाद इंडिया के पहले डेरी स्टार्टअप मिल्क मंत्रा के फाउंडर श्रीकुमार मिश्रा काफी भावुक हो गए। इसके बाद उन्होंने गणेश्वर को एक गाय गिफ्ट करने का फैसला किया। श्रीकुमार मिश्रा ने पिता की मजबूरी और बेटी की पढ़ाई दोनों बातों को तवज्जो दी। उन्होंने कहा यह कहानी बेहद भावुक कर देने वाली है। इसके साथ ही उन्होंने गरीब किसान को हाइब्रिड गाय का बछड़ा उपहार के तौर पर दिया।

interesting-story-man-gifts-a-new-cow-to-man-he-sold-his-cow-to-buy-phone-for-daughter-classes
Social Media

गौरतलब है कि गणेश्वर ने अपनी गाय 6,500 में बेची थी। इसके बाद उन्होंने 2000 उधार लेकर फोन खरीदा। वही श्रीकुमार मिश्रा से उपहार में मिली गाय पर गणेश्वर मिश्रा ने तहे दिल से उनका धन्यवाद किया और कहा कि हम मिश्रा जी को हमेशा याद रखेंगे, हम उनके आभारी हैं।