नीतीश की सभा से कुछ देर पहले महिला प्रत्याशी बनी मां, काम के हैं बड़े चर्चे!

0
1

रविवार को जिले के जगदीशपुर विधानसभा में सुशुमलता कुशवाहा के समर्थन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, लेकिन उससे ठीक पहले जो खबर आई, वो अपने आप में काफी सुखद भी थी।

New Delhi, Oct 18 : बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार का दौर जोर-शोर से चल रहा है, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत बीजेपी के भी कई दिग्गज नेता बिहार में लगातार चुनाव प्रचार कर रहे हैं, इस कड़ी में जहां प्रत्याशियों द्वारा सघन तौर पर जनसंपर्क अभियान चलाया जा रहा है, तो वहीं एक ऐसा भी मामला सामने आया है, जहां चुनाव से कुछ दिन पहले ही महिला प्रत्याशी मां बनी हैं, मामला भोजपुर जिले से जुड़ा है, जहां के जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू उम्मीदवार सुशुमलता चुनाव से ठीक पहली एक बच्ची को जन्म दिया है।

सीएम का कार्यक्रम
दरअसल रविवार को जिले के जगदीशपुर विधानसभा में सुशुमलता कुशवाहा के समर्थन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, लेकिन उससे ठीक पहले जो खबर आई, वो अपने आप में काफी सुखद भी थी, Nitish kumar क्योंकि विधानसभा चुनाव लड़ रही महिला प्रत्य़ाशी को मातृत्व की अनुभूति हुई, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुशुमलता ने पटना के एक निजी अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया है, तथा जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य है, सुशुमलता कुशवाहा की पहचान विधायक उम्मीदवार से पहले इलाके की मुखिया के तौर पर थी, उनके विकास कार्यों से प्रभावित होकर जदयू ने पहली बार उन्हें विधानसभा का टिकट दिया है।

राजद के पास है सीट
बाबू वीर कुंवर सिंह की भूमि यानी भोजपुर जिले के जगदीशपुर विधानसभा सीट से इस बार कई धुरंधर चुनावी मैदान में हैं, महागठबंधन की ओर से राजद के सीटिंग विधायक रामविशुन सिंह लोहिया को उम्मीदवार बनाया गया है, तो जदयू ने सुशुमलता को प्रत्याशी घोषित किया है, सुशुमलता की शादी साल 2012 में हुई थी, उनकी सात साल की एक बेटी पहले से है।

अकेली महिला उम्मीदवार
भोजपुर की जगदीशपुर सीट पर 18 उम्मीदवारों में सुशुमलता कुशवाहा अकेली महिला प्रत्याशी है, जो चुनावी मैदान में है, उन्होने कहा कि मुखिया रहते हुए उन्होने महिला के लिये बेहतर काम किया है, ग्राम सभा में पहले महिलाएं नहीं आती थी, लेकिन आज आती हैं, किसानों को लेकर उन्होने कहा कि क्षेत्र में 14 टांसफॉर्मर लगाये गये हैं, हालांकि अभी भी कुछ इलाकों में सिंचाई की व्यवस्था में कमी है, जिसे वो दूर करेंगी, इसके अलावा किसानों को जागरुक कर उन्हें अन्य कामों में भी रोजगार सृजित करेंगी।