इस पौधे में होती हैं रुपए पैसा खींचने की शक्तियां इसीलिए अधिकतर लोग लगाते हैं घरों में, आइए जाने

0
4




हिन्दू धर्म मे पेड़ पौधो की हजारो साल से पूजा होती आ रही है.प्रकृति को देवी देवता के रूप मे पूजा जाता है.संसार मे सबकी अपनी अपनी आस्था है. ईश्वर की आराधना सब अपने ढंग से करते है. वही बात करे पेड़ पूजा की तो धार्मिक किताबों मे शास्त्रों द्वारा बताएँ गये कुछ पेड़ पौधो की पूजा अर्चना की जाती है.आज इस लेख मे हम आपको एक ऐसे वृक्ष के बारे मे बताएँगे जिसकी अनेक खूबियां है.वास्तु शास्त्र की बात करे तो ऐसे अनेक पेड़ पौधो के बारे मे बताया गया है. जिनको पूजा जाता है.जिनके घर मे लगाने से कितने फायदे होते है.

ऐसे ही एक पौधा है मयूरपंखी का पौधा. जिसे धन खींचने वाला पौधा कहा जाता है.मयूर पँख का पौधा दिखने मोर के पँख की तरह होता है. इसकी खूबियां यह है की इसमें कुछ ऐसे शक्ति है जो धन को एकत्रित करने की क्षमता रखता है.इस पौधे के बारे एक बात यह भी कही गई है की इसे कुछ जगह विद्या का पौधा भी कहा गया है.अक्सर बच्चे अपनी पुस्तक मे इसकी पत्तियाँ रखते है. उनका यह मानना है की इसकी पत्तियाँ रखने से पड़ने मे दिमाग़ तेज़ होगा.लेकिन यहां हम विद्या को भी धन से जोड़कर देखंगे की अगर व्यक्ति पड़ेगा लिखेगा नही तो धन कहा से आएगा.मयूर पँख के पेड़ के बारे मे यह मान्यता है की इसको लगाने से धन की प्राप्ति होती है हर जगह से अक्सर बड़ी बड़ी कोठियों मे इसके पेड़ लगाए जाते है.देखा जाये तो लोगों की आस्था है, विश्वास है,वेदो मे पुराण मे इसके बारे मे कहा गया है.

# मयूरपंखी का पौधा सदैव जोड़े में लगाया जाता है। यानी दो पौधे एक साथ लगाने से ही यह प्रभावकारी बनता है।

# मयूरपंखी के पौधे को घर के गार्डन में या इनडोर प्लांट के रूप में घर के अंदर भी लगाया जा सकता है। यह सजावटी पौधे के रूप में कई घरों की शोभा बढ़ाता है।

# मयूरपंखी के पौधे यदि घर के अंदर लगा रहे हैं तो ऐसी जगह का चयन करें जहां से इस पर पर्याप्त धूप पड़ती हो।

# इस पौधे को घर के बाहर लगा रहे हैं तो मुख्य प्रवेश द्वार के ठीक सामने लगाएं।

# जिन लोगों को राहु की महादशा चल रही हो उन्हें यह पौधा लगाने से पीड़ा से राहत मिलती है।

# घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, पैसा ठहरता नहीं है तो मयूरपंखी का पौधा जरूर लगाएं।

# किसी कारणवश यदि मयूरपंखी का पौधा सूख जाए तो उसे निकालकर फेंक दें और तुरंत दूसरा पौधा लगाएं।

# मयूरपंखी के पौधे के समीप कभी भी धूप-दीप न लगाएं। इससे पौधे का विपरीत प्रभाव होता है।