बलिया कांड: कौन है का मुख्य आरोपी, जानिए इससे पहले क्या करता था

0
2




उत्तर प्रदेश के जिला बिलिया के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गाँव के पंचायत भवन में बीते गुरुवार को कोटे की दुकान के चुनाव के लिए खुली बैठक बुलाई गई थी। बैठक में कई जाने माने नेता मजूद थे , साथ ही कानून से जुड़े कुछ लोग भी मौदूज थे। इस कोटे की दुकान की चयन बैठक में एसडीएम, सीओ,व अन्य पुलिस वालों के सामने ही एक कर दी गई थी।

जी हाँ इन सभी लोगो की मौजूदगी में भाजपा के कार्य कर्ता धीरेंद्र प्रताप सिंह ने खुले आम एक व्यक्ति को गोली मार दी थी। अब इस हत्याकांड को लेकर रणनीतिक दलों में बयान बाजी और सियासती दंगल शुरू है। इस हत्याकांड के आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह भारतीय सेना के रिटायर्ड जवान हैं साथ ही भूतपूर्व सैनिक संगठन बलिया तहसील इकाई के अध्यक्ष भी हैं। इसी के साथ धीरेंद्र प्रताप सिंह बलिया के भाजपाई विधायक सुरेंद्र सिंह के भी नजदीकी माने जाते हैं ।

इस मामले में धीरेंद्र प्रताप सिंह के घर पर गुरुवार रात को पुलिस ने छापा मारी भी की, इस छापे मारी को लेकर भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने पुलिस पर घर मे तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। इसी के साथ शुक्रवार को सुरेंद्र सिंह ने बयान देते हुए वीडियो भी जारी किया है। जिसमे उन्होंने कहा है की,” धीरेंद्र प्रताप सिंह ने अपनी रक्षा में गोली चलाई , उन्हें यह भी कहा कि अगर भाजपा के कार्य कर्ता धीरेंद्र प्रताप सिंह गोली नही चलाते तो उनके परिवार के बहुत लोग मार दिए जाते।” उन्होंने कहा कि इस पक्ष के लोगो की भी बात को सुना जाना चाहिए। उन्होंने बलिया के जनता एवम प्रशासन से न्याय का साथ देने की गुहार की है।