शर्मनाक! पति ने डेढ़ साल तक पत्नी को टॉयलेट में रखा बंद, शरीर में बचा हड्डियों का ढांचा

0
0

हरियाणा के पानीपत के एक गांव से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला वाक्य सामने आया है. जहां एक पति ने अपनी पत्नी को डेढ़ साल से टॉयलेट में बंद कर रखा था. जिसे वक्त रहते पता चलने पर महिला संरक्षण एवं बाल निषेध अधिकारी की टीम ने बचाया. महिला के पूरे शरीर से मल-मूल की बदबू आ रही थी और महिला की हालत इतनी खराब थी कि उससे चला तक नहीं जा रहा था.

महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी का इसपर कहना था कि मंगलवार को मिली सूचना के चलते उन्होंने और उनकी टीम ने सनोली पुलिस के साथ रिसपुर गांव में नरेश नाम के व्यक्ति के घर छापा मारा था.

टॉयलेट का ताला खोला तो अंदर नरेश की पत्नी थी. जिनकी हालत बत से बत्तर हो रखी थी. उनके शरीर में सिर्फ हड्डियों का ढांचा रह गया है. इसपर नरेश का कहना है कि उसकी पत्नी दिमागी तौर से परेशान है और उसका पिछले 2-3 साल से इलाज चल रहा है और इसीलिए उसने अपनी पत्नी को कमरे में बंद कर रखा है.

महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी ने बताया कि महिला की शादी 17 साल पहले हुई थी और उसकी एक बेटी और दो बेटे भी हैं.

अधिकारी का कहना ये भी था कि हम सभी को इस बात से हैरानी हुई कि बच्चों का पिता उनके सामने मां को मारता-पीटता था, भूखा-प्यासा टॉयलेट में बंद रखता था, फिरभी उन्होंने अपने पिता की शिकायत नहीं की या फिर कभी रोकने की कोशिश तक नहीं की.

बता दें, पुलिस ने महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी की शिकायत पर पति को गिरफ्तार कर लिया है और उसके खिलाफ 498 ए और 342 के तहत केस भी दर्ज कर लिया है.