1 नवंबर से बदल जाएगा LPG Cylinder डिलीवर करने का तरीका, फोन पर बुकिंग के अलावा ये भी करना होगा

0
2

गैस सिलेंडर (LPG Cylinder) हमारी रसोई का एक अहम हिस्सा होता है। आजकल घर बैठे फोन पर ही इसकी बुकिंग हो जाती है और यह सिलेंडर आपके घर डिलीवरी कर दिया जाता है। हालांकि अगले महीने यानि नवंबर माह से एलपीजी सिलेंडर की डिलीवरी में एक नया बदलाव आने वाला है। अब इसे ग्राहकों तक डिलीवर करने का तरीका बदल जाएगा। यदि आप भी घर बैठे फोन पर गैस सिलेंडर मंगवाते हैं तो यह खबर आपके लिए बहुत अहम है।

नवंबर से बदल जाएगा गैस सिलेंडर की डिलीवरी का तरीका

दरअसल वर्तमान में सिलेंडर से गैस की चोरी होना, सिलेंडर चोरी होना या सही ग्राहक की पहचान न हो पाना जैसी दिक्कतें बहुत आती है। सरकारी ऑयल कंपनियां इन समस्याओं को रोकना चाहती है और इसी के चलते उन्होंने गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी (Home Delivery) को लेकर एक नया सिस्टम (New System) लागू करने का फैसला लिया है। इस नए सिस्टम के तहत सिर्फ फोन पर बुकिंग कर देने से काम नहीं चलेगा, बल्कि आपको एक और प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ेगा।

डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड (DAC) होगा जरूरी

इस नए सिस्टम के अंतर्गत आपको सिलेंडर लेने के पहले डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड (DAC) को सिलेंडर देने आए डिलीवरी ब्वॉय (Delivery Boy) को देना होगा। यह कोड गैस सिलेंडर की बुकिंग करते समय आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आ जाएगा। जब तक आप ये कोड नहीं देंगे डिलीवरी स्टेट्स पेंडिंग ही रहेगा। इससे कोई भी गैस सिलेंडर की चोरी नहीं कर पाएगा।

मोबाइल नंबर भी अपडेट कर सकेंगे

आप अपना मोबाईल नंबर डिलीवरी के वक्त ही अपडेट कर सकेंगे। गैस विक्रेता एजेंसी में मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड न होने या नंबर बदल जाने की स्थिति में आप डिलीवरी के समय इसे अपडेट करवा सकते हैं। दरअसल डिलीवरी ब्वॉय के पास एक ऐप होगी जिसमें आपका मोबाइल नंबर रियल टाइम बेसिस पर अपडेट हो जाएगा। फिर आप इसी नंबर से कोड भी जनरेट कर सकते हैं।

फिलहाल स्मार्ट सिटी में होगा यह सिस्टम

यह नया डिलीवरी सिस्टम सबसे पहले 100 स्मार्ट सिटी में लागू किया जाएगा। ये एक पायलट प्रोजेक्ट होगा जिसे बाद में धीरे धीरे देश के अन्य हिस्सों में भी लागू किया जाएगा। फिलहाल ये पायलट प्रोजेक्ट दो शहरों में ही चल रहा है। बताते चलें कि इसे सिर्फ घरेलू रसोई गैस सिलेंडर पर ही लागू किया जाएगा।  कमर्शियल सिलेंडर इस नए सिस्टम का हिस्सा नहीं होंगे।

वैसे इस नए सिस्टम को लेकर आपकी क्या राय है हमे कमेंट में जरूर बताएं।