चिदंबरम ने फिर किया आर्टिकल 370 की बहाली की मांग, कांग्रेस की देश बांटने वाली ‘डर्टी ट्रिक्स’

0
0

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम द्वारा कश्मीर पर दिए गए बयान पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने प्रतिक्रिया दी है और इनपर भारत बांटने की गंदी राजनीति करने का आरोप लगाया है। दरअसल शुक्रवार को पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने कई सारे ट्वीट्स किए थे और जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों के नए गठबंधन को समर्थन किया था। ट्वीट कर इन्होंने कहा था कि किया, ‘जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख के लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के मकसद से वहां के मुख्यधारा के क्षेत्रीय दलों का साथ आना एक ऐसा घटनाक्रम है। जिसका भारत के सभी लोगों को स्वागत करना चाहिए।

इतना ही नहीं पी. चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 (Article 370) की बहाली की बात भी कही थी। इन्होंने कहा, ‘कांग्रेस दर्जे और जम्मू-कश्मीर के लोगों के अधिकारों की बहाली के लिए संकल्पबद्ध खड़ी है। सरकार को पांच अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और असंवैधानिक फैसलों को निरस्त करना चाहिए।

डर्टी ट्रिक्स का कर रहे हैं इस्तेमाल

पी. चिदंबरम के इन्हें ट्वीट्स पर जगत प्रकाश नड्डा ने अब प्रतिक्रिया दी है। तीखी प्रतिक्रिया देते हुए इन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास गुड गवर्नेंस का कोई एजेंडा नहीं है। इसीलिए बिहार चुनाव से पहले वो भारत को बांटने वाली डर्टी ट्रिक्स इस्तेमाल कर रही है। जेपी नड्डा ने कहा है कि राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ करते हैं और पी. चिदंबरम कहते हैं कि कांग्रेस आर्टिकल 370 को दोबारा लागू करवाना चाहती हैे ये बेहद शर्मनाक है।


गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 हटने के दौरान हिरासत और फिर पीएसए एक्ट के तहत नजरबंद की गई जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को करीब 14 महीनों बाद रिहा किया गया है। रिहा होने के बाद उन्होंने अपनी पार्टी पीडीपी के नेताओं के साथ बैठक की थी।

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को वापस लागू करवाने के लिए राज्य के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों ने बैठक भी की थी। जो कि नेशनल कान्फ्रेंस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला के घर हुई थी। इस बैठक में पीडीपी, पीपुल्स कान्फ्रेंस, लेफ्ट पार्टियों के नेताओं ने हिस्सा लिया था। फारूक अब्दुल्ला ने बैठक के बाद कहा था कि हम 5 अगस्त, 2019 से पहले अधिकार बहाल करना चाहते हैं। जिसमें राज्य की सभी पार्टी एक साथ काम करेंगी। वहीं अब कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों के नए गठबंधन को समर्थन दिया है और कांग्रेसी नेता पी. चिदंबरम ने इन पार्टियों को समर्थन देते हुए ट्वीट किया है।