सनी देओल से सिर्फ 8 साल बड़ी हैं हेमा मालिनी, जाने कैसा है ड्रीम गर्ल का सौतेले बेटों संग रिश्ता

0
0

बॉलीवुड की ड्रीमगर्ल और बसंती के नाम से मशहूर एक्ट्रेस हेमा मालिनी आज अपना 72वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। उनका जन्म 16 अक्टूबर 1948 को चेन्नई के अम्मनकुडी में हुआ था। हेमा मालिनी ने अपने फिल्मी करियर की शुरूआत तमिल फिल्म इधु साथियम से की थी, हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में आने से पहले उन्होंने कई तमिल फिल्मों में काम किया। हेमा ने साल 1968 में सपनों का सौदागर फिल्म से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था और फिर उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। हेमा मालिनी पिछले चार दशकों से बॉलीवुड में एक्टिव हैं और उन्होंने कई सुपरहिट फिल्में दीं हैं। खैर, आज हम उनके फिल्मों की नहीं बल्कि उनकी फैमिली की बात करने वाले हैं।

जानिए कैसा है हेमा और उनके सौतेले बेटों का रिश्ता..

हेमा मालिनी-सनी देओल

बता दें कि धर्मेन्द्र ने अपनी पहली शादी प्रकाश कौर से की थी, जिनसे उनके २ बच्चे सनी और बॉबी हैं। इसके बाद जब  धर्मेन्द्र ने हेमा मालिनी से दूसरी शादी की तो उनकी पहली पत्नी और दोनों बच्चे खासे नाराज़ हुए थे और यही वजह है कि सनी और बॉबी का रिश्ता अपनी सौतेली मां हेमा मालिनी से कुछ खास नहीं है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हेमा मालिनी जहां आज 72 साल की हो गई हैं तो वहीं सनी देओल की उम्र भी 64 वर्ष है, यानी दोनों के उम्र का फासला महज 8 वर्षों का ही है। बहरहाल, हेमा और सनी का रिश्ता बिल्कुल भी अच्छा नहीं बताया जाता है। इन दोनों के रिश्ते की खाई तब और चौड़ी हो गई थी, जब हेमा ने अपनी बेटी ईशा की शादी में सनी को  इनवाइट किया और वे नहीं पहुंचे। सनी के नहीं पहुंचने से हेमा उनसे काफी नाराज़ हुई थी।

इस वजह से ईशा की शादी में नहीं गए थे सनी-बॉबी..

हेमा मालिनी-सनी देओल-बॉबी देओल

बता दें कि सनी और बॉबी अपनी मां प्रकाश कौर के काफी करीब बताए जाते हैं। दोनों भाई अपनी मां के साथ रहना ज्यादा पसंद करते हैं। बताया जाता है कि प्रकाश कौर के कहने पर ही सनी और बॉबी, ईशा की शादी में नहीं गए थे। हालांकि हेमा मालिनी कहती हैं कि उनके और उनकी बेटियों के साथ सनी-बॉबी के रिश्ते हमेशा से ही अच्छे रहे हैं। हेमा कहती हैं कि जब मेरा साल 2015 में एक्सीडेंट हुआ था, तो सनी देओल ही पहले व्यक्ति थे जो मेरे घर पहुंचे थे। हेमा बताती हैं कि उस दौरान उन्होंने डॉक्टर्स को अच्छे से इलाज करने के सख्त निर्देश भी दिए थे।

जानिए हेमा क्यों नहीं जाती अपने पति के पुश्तैनी घर 

हेमा मालिनी-धर्मेंद्र

राम कमल मुखर्जी की किताब ‘हेमा मालिनी : बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल के अनुसार धर्मेंद्र के पुश्तैनी घर में हेमा मालिनी के फैमिली से सिर्फ ईशा देओल ही गई हैं। इसके अलावा न हेमा कभी गईं और ना ही अहाना देओल कभी पहुंची। बात दें कि ईशा देओल भी तब गईं थीं, जब धर्मेंद्र के भाई अजीत सिंह देओल काफी बीमार थे और ईशा अपने चाचा को देखना चाहती थीं। राम कमल मुखर्जी की किताब में ईशा के हवाले से लिखा गया है कि मैं चाचा से मिलना चाहती थी क्योंकि वो मुझे और मेरी बहन अहाना को काफी प्यार करते थे।

सनी देओल-ईशा देओल

ईशा देओल के मुताबिक उनके पास कोई दूसरा रास्ता नहीं था, क्योंकि जब उनके चाचा बीमार थे तो वे घर में ही थे, ऐसे में उन्हें घर ही जाना पड़ा। ईशा कहती हैं कि मुझे जब चाचा से मिलने घर जाना था तो मैंने सनी भैय्या को फोन किया था तो उन्होंने चाचा से मिलने की पूरी व्यवस्था करा दी थी। इस किताब के मुताबिक हेमा मालिनी शादी के बाद कभी धर्मेंद्र के पुश्तैनी घर नहीं गईं, क्योंकि हेमा ने धर्मेंद्र से शादी जरूर की थी, मगर वो कभी नहीं चाहती थीं कि धर्मेंद्र की दूसरी फैमिली यानी प्रकाश कौर, सनी देओल और बॉबी देओल उनकी वजह से डिस्टर्ब हों।

हेमा-ईशा-अहाना

राम कमल मुखर्जी के इस किताब में इस बात का भी उल्लेख है कि हेमा मालिनी का बंगला, धर्मेंद्र के पुश्तैनी घर से महज 5 मिनट की दूरी पर है, लेकिन हेमा आज तक नहीं गईं जबकि उनकी बेटी ईशा को वहां पहुंचने में 34 साल लग गए। बता दें कि ईशा का जन्म साल 1981 में हुआ था और 2015 में वो धर्मेंद्र के पुश्तैनी घर गईं थीं। ईशा देओल बताती हैं कि जब मैं अपने पापा के घऱ गई थी तो मैं उस दौरान सनी भैय्या की मां प्रकाश कौर से भी मिली और मैंने उनके पैर छुए। ईशा के अनुसार उन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया और वहां से चली गईं।