मैदान पर आते ही क्रिस गेल ने दिखाया जलवा, 5 छक्के लगाकर बदली किंग्स इलेवन की किस्मत!

0
0

आरसीबी के खिलाफ मुकाबले में क्रिस गेल को ओपनिंग के लिये नहीं भेजा गया, वो मयंक अग्रवाल के आउट होने के बाद नंबर तीन पर बल्लेबाजी के लिये आये।

New Delhi, Oct 16 : यूनिवर्स बॉस यानी क्रिस गेल ने आखिरकार आईपीएल के मौजूदा सीजन में पहला मैच खेलने उतरे, गेल में आते ही पंजाब की किस्मत बदल दी, लगातार 5 हार के सिलसिले पर ब्रेक लगा, दो दिन पहले गेल ने पंजाब के फैंस से कहा था कि निराश होने की जरुरत नहीं है, उनकी टीम वापसी करेगी और हुआ भी वैसा ही, गेल ने आते ही पंजाब के लिये फिर से थोड़ी उम्मीदें जगा दी है, उन्होने 45 गेंदों में 53 रनों की पारी खेली, हालांकि गेल की ये पारी उनके मिजाज से मेल नहीं खाती है, लेकिन ये तो शुरुआत है आने वाले मैचों में और धमाल मचेगा।

ओपनिंग करने नहीं आये गेल
आरसीबी के खिलाफ मुकाबले में क्रिस गेल को ओपनिंग के लिये नहीं भेजा गया, वो मयंक अग्रवाल के आउट होने के बाद नंबर तीन पर बल्लेबाजी के लिये आये, मयंक ने 25 गेंदों में 45 रनों की पारी खेलकर जीत के लिये बुनियाद तैयार कर दी थी, Chris gayle जब गेल बल्लेबाजी के लिये आया, तो इस समय पंजाब की टीम 10 रन प्रति ओवर के हिसाब से रन बना रही थी, ऐसे में करीब 7 महीने बाद कॉम्पिटेटिव क्रिकेट में वापसी कर रहे गेल को आंखें जमाने का मौका मिल गया, उन पर तुरंत तेजी से रन बनाने का कोई दबाव नहीं था।

जोरदार 5 छक्के
गेल ने अपने पहले 6 रन के लिये 14 गेंदें खेली, फिर 13वें ओवर में उन्होने अपने अंदाज में गेंदबाजों पर हमला करना शुरु किया, वॉशिंगटन सुंदर के एक ही ओवर में उन्होने 2 करारे छक्के लगाये, इसके बाद 17वें ओवर में उन्होने एक बार फिर से सुंदर की गेंदों पर हमला किया, एक बार फिर इस ओवर में उन्होने 2 छक्के लगाये, गेल ने इस पारी के दौरान 5 छक्के और 1 चौका लगाया, मैच के बाद गेल ने कहा कि यूनिवर्स बॉस वापस आ गये हैं।

क्या है प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें
8 मैचों में 2 जीत के साथ किंग्स इलेवन पंजाब की टीम अभी भी अंक तालिका में आखिरी नंबर पर है, उन्हें अभी 6 मैच और खेलने हैं और प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिये पंजाब को सभी मैच जीतने होंगे, Kings Eleven यानी गेल को पंजाब की उम्मीदें बरकरार रखने के लिये हर मैच में जोरदार पारी खेलनी होगी, बता दें कि पिछले साल गेल पंजाब की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने में दूसरे नंबर पर थे, 13 पारियों में उन्होने 490 रन बनाये थे।