लव जिहाद का शिकार हुई अंजलि की कहानी, प्यार के लिए बदला था धर्म, धोखा मिलने पर कर ली जिंदगी खत्म

0
1196

उत्तर प्रदेश में विधानसभा भवन के पास मंगलवार को आत्मदाह करने वाली महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इस महिला का नाम अंजलि था। जानकारी के मुताबिक अंजलि ने अखिलेश तिवारी नामक व्यक्ति से शादी की थी। शादी के चार साल बाद इनका तलाक हो गया। जिसके बाद अजंलि ने आसिफ नाम के युवक से निकाह कर लिया और अपना धर्म भी बदल लिया था। अंजलि ने धर्म बदलने के बाद अपना नाम आयशा कर लिया था। लेकिन शादी के कुछ ही महीनों बाद आसिफ सऊदी अरब चले गया। आसिफ ने अंजलि को सऊदी अरब जाने के बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी थी। वहीं सऊदी अरब जाने के बाद आसिफ ने अंजलि से बात करना भी कम कर दिया था।

धर्म परिवर्तन करने की रखी थी शर्त

अंजलि की मुलाकात आसिफ से दुकान पर काम करते हुए हुई थी और इन दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया था। लेकिन अब अंजलि ने आसिफ से शादी की बात कही। तो आसिफ ने धर्म परिवर्तन करने की शर्त रखी। अंजलि ने आसिफ की बात मान ली और आयशा बन गई। निकाह के बाद आसिफ रजा के परिजनों ने अंजलि का उत्पीड़न शुरू कर दिया। इसके बाद आसिफ के साथ अंजलि गोरखपुर चली गई। वहीं किराए पर कमरा लेकर ये रहने लगे। लेकिन गोरखपुर में आसिफ अंजलि पर अत्याचार करने लगा और अंजलि को गोरखपुर में छोड़ सऊदी अरब चला गया। ढाई साल से अंजलि सउदी अरब में ही है।

वहीं पति और ससुराल वालों के अत्याचार से तंग लाकर अंजलि ने इनके खिलाफ केस दर्ज करवाया। लेकिन पुलिस ने कोई भी कार्रवाही नहीं की। जिसके बाद अंजलि ने मंगलवार को विधानभवन के पास बीजेपी कार्यालय के गेट नंबर 2 के सामने खुद को आग के हवाले कर दिया।

अंजलि ने अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ छिड़ककर खुद को आग लगाई थी। अंजलि को तुरंत लखनऊ के श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। लेकिन इलाज के दौरान बुधवार को अंजलि की मौत हो गई। इस पूरी घटना पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और अपनी जांच शुरू कर दी है। इस पूरे मामले को लव जिहाद से जोड़कर देखा जा रहा है।