राम विलास पासवान ने चिराग को पहले ही दी थी चेतावनी, कहा- ऐसा नहीं किया तो बाद में पछताओगे

0
0

बिहार विधानसभा चुनाव का आगाज हो गया है। 28 अक्टूबर से मतदान शुरू हो जाएंगे। ऐसे में लोक जनशक्ति पार्टी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज होकर बिहार में अकेले ही चुनाव लड़ने का फैसला किया है। वहीं इस मामले पर चिराग पासवान ने एक बयान भी जारी किया है। इस दौरान चिराग पासवान को एक बार फिर अपने पिता की याद आई है और उन्होंने इस दौरान पिता के एक मशवरे के तहत बिहार चुनाव में अपनी रणनीति तैयार करना शुरू कर दिया है।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

हाल ही में राजनीति के दिग्गज नेता और मौसम वैज्ञानिक कहे जाने वाले रामविलास पासवान का निधन हुआ है। वहीं दूसरी ओर बिहार चुनाव का आगाज भी हो चुका है। ऐसे में पिता की उंगली थामे पहली बार रामविलास पासवान चुनावी रण में बतौर अध्यक्ष उतरने वाले थे, लेकिन चुनाव से कुछ समय पहले ही पिता के निधन से चिराग पासवान को काफी बड़ा झटका लग गया। चिराग अकेले चुनावी मैदान में उतर चुके हैं, लेकिन उन्हें आज भी अपने पिता की कुछ बातें याद है।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

चिराग ने अपने पिता द्वारा दी गई राजनीति प्रेरणा और प्रोत्साहन का हाल ही में जिक्र करते हुए कहा कि “वह पापा की सिख के तहत चल रहे हैं। इस मुश्किल घड़ी के लिए पापा ने मुझे पहले ही तैयार कर दिया था।” दरअसल चिराग से एक इंटरव्यू के दौरान पूछा गया था कि राजनीतिक उठापटक के बीच आपने अपने पिता को खो दिया और उस दौरान पिता के अंतिम संस्कार पर आप काफी भावूक भी हो गए थे।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

इस सवाल के जवाब में चिराग पासवान ने कहा कि यह बहुत मुश्किल घड़ी है कोई भी इसके लिए पहले से तैयार नहीं होता। मैं पापा को बहुत मिस कर रहा हूं। मैंने उनकी उंगली थाम कर चुनावी रण में कदम रखा था। चिराग ने आगे कहा कि ऐसी परिस्थितियों के लिए कोई भी पहले से तैयार नहीं होता सच कहूं तो इस वक्त मैं इन सब के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं था।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

चिराग ने कहा कि चुनाव है और मेरे साथ पापा नहीं है, वह मेरी ताकत है, मैं हमेशा सोचता था कि पापा मेरे साथ है तो मैं पूरी दुनिया से लड़ सकता हूं, लेकिन अब वह नहीं है। ऐसे में मैं कमजोर भी नहीं पड़ना चाहता और मैं आगे लड़ता रहूंगा। पापा ने मुझे यही सिखाया है कि हर मुश्किल घड़ी के लिए हमेशा पहले ही तैयार रहना चाहिए।

ram-vilas-paswan-instigated-to-contest-alone-says-ljp-chief-chirag-paswan
Social Media

चिराग पासवान ने कहा कि मैं अपने पापा के हर सपने को पूरा करना चाहता हूं। उनका सबसे बड़ा सपना था कि पार्टी राज्य में अकेले चुनाव लड़े और वह मुझे इसके लिए हमेशा प्रोत्साहित भी करते थे। साल 2005 में मैंने फैसला लिया भी था तब उन्होंने कहा था कि तुम भी अभी युवा हो और तुम यह फैसला क्यों नहीं लेते। पापा की इस सोच को लेकर मैंने साल 2020 विधानसभा में एलजीपी को अकेले चुनावी रण में उतारा है और मैं अकेले पार्टी के साथ चुनाव लड़ूंगा और हमारी पार्टी आगे बढ़ेगी।

ram-vilas-paswan-instigated-to-contest-alone-says-ljp-chief-chirag-paswan
Social Media

पापा ने मुझसे यह भी कहा था की अभी जो राज्य में मुख्यमंत्री हैं अगर वह दुबारा मुख्यमंत्री बन गए तो अगले 10 साल बाद तुम्हें हमेशा इस बात का पछतावा रहेगा कि तुमने बिहार के हालातों में सुधार करने के लिए कोई बड़ा कदम या बड़ा फैसला नहीं लिया। ऐसे में चुनावी रण में अकेले उतारना मेरा अकेले का फैसला नहीं है इस फैसले के लिए पापा ने मुझे पहले ही तैयार कर दिया था।