Azerbaijan-Armenia war: पुतिन के ऑर्डर के बाद आर्मीनिया और अजरबैजान वॉर जोन में पहुंची रूसी सेना

0
0

आर्मीनिया और अजरबैजान (Azerbaijan-Armenia Conflict) एक दूसरे को खत्म करने पर अमादा है। तुर्की जो कुछ कर रहा है, उससे पुतिन का माथा घूम गया है। (russian army) उन्होंने अपनी सेना को सीधे वॉर जोन में भेज दिया है। (Azerbaijan War) इस ऑर्डर के साथ कि अगर जंग नहीं रुकी तो दुश्मनों को दंग कर दो।

पुतिन का ऑर्डर पाते ही रूसी सेना वॉर जोन (Russian army war zone) में पहुंच गई और हमले की तैयारी करने लगी। आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच बारूदी जंग 18 दिनों से जारी है। तुर्की इस युद्ध को भड़का रहा है। हालात इतने खराब हो चुके हैं कि रूस की मध्यस्थता काम नहीं आ रही है। ऐसे में अब पुतिन की सेना को कभी भी युद्ध के मैदान में उतरना पड़ सकता है। इसीलिए रूस की तीनों सेनाओं ने युद्धाभ्यास किया।

रूसी टैंकों ने कुछ ही देर में इतने गोले दागे कि पूरा इलाका धुआं धुआं हो गया। (Armenia) दुश्मन पर हेलिकॉप्टर से हमले की प्रैक्टिस की गई। मिसाइलों से जमीन पर टारगेट को नेस्तानाबूद किया गया। रूसी सेना ने ताबड़तोड़ मिसाइलें दागीं और रॉकेट छोड़े।

इसके बाद दुनिया के सबसे घातक एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 से रॉकेट छोड़े गए और इस तरह से पुतिन की सेना ने वर्ल्ड वॉर की तैयारी की। रूस ने इस युद्धाभ्यास से एक तरफ अमेरिका को चेतावनी देने की कोशिश की है तो दूसरी तरफ तुर्की और अजरबैजान को।

पुतिन का मैसेज एकदम क्रिस्टल और क्लियर है। तुर्की अपनी साजिशों से बाज आए। अजरबैजान तत्काल युद्ध रोक दे। अगर ऐसा नहीं हुआ तो रूस की सेना रेडी है। बर्बादी बरपाने का रिहर्सल हो चुका है। बस एक्शन बाकी है और अगर रूस ने एक्शन लिया, तो तबाही मचनी तय है।