आखरी समय तक मोबाइल नहीं रखते थे राम विलास पासवान, खुद ही बताई थी इसकी वजह

0
0

राजनीति की दुनिया के मौसम वैज्ञानिक कहे जाने वाले रामविलास पासवान का बीते सप्ताह निधन हो गया। उनके निधन के बाद पूरी पार्टी की कमान रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान के हाथ में आ गई है। ऐसे में चिराग पासवान पार्टी को संभालने की कवायद में जुटे हुए है। बिहार इलेक्शन सर पर है तो चिराग पासवान की जिम्मेदारियां भी बेहद बढ़ गई है। चिराग पासवान को ऐसे समय में पिता की याद बहुत ज्यादा आ रही हैं।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

ऐसे में आज हम आपको चिराग पासवान और रामविलास पासवान के बीच का एक ऐसा कितना सुनाएंगे, जिसे सुनने के बाद आपको खुद काफी हैरानी होगी। आप जानते हैं रामविलास पासवान अपने आखिरी समय तक मोबाइल फोन नहीं रखते थे। इस बात का खुलासा उन्होंने खुद एक चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान किया है। इस दौरान चिराग पासवान भी मौजूद थे।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

रामविलास पासवान आप की अदालत में रजत शर्मा के सामने बैठे थे। इस दौरान जब रजत शर्मा ने उनसे पूछा कि आप अपने बेटे को फिल्मों में देखना चाहते हैं या राजनीति में? इसके जवाब में रामविलास पासवान ने बेहद दिलचस्प जवाब दिया। रामविलास पासवान ने कहा कि मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जो करना चाहता है वह अपनी मर्जी से करें और मैं यही दूसरे माता-पिता से भी कहना चाहूंगा कि उन्हें कभी भी अपनी मर्जी अपने बच्चों पर नहीं थोपनी चाहिए। बच्चे जो करना चाहते हैं उन्हें करने देना चाहिए और उनका पूरा समर्थन करना चाहिए।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं कभी मोबाइल फोन नहीं यूज करता, लेकिन मैने कभी चिराग को टैक्नोलॉजी से दूर रहने की सलाह नहीं दी। उन्हें टेक्नोलॉजी से बहुत प्यार है और यही कारण है कि उन्होंने अपनी पढ़ाई भी इसी लाइन में की है। वह फोन और कंप्यूटर का इस्तेमाल करना काफी पसंद करते हैं और मैने उन्हें इससे कभी रोका नहीं है।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

इस दौरान उन्होंने वंशवाद की राजनीति पर उठ रहे सवालों का भी जवाब दिया कि आखिर कैसे एक राजनीति में कुछ दिन पहले ही कदम रखने वाले चिराग पासवान कैसे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर आ गए? उन्होंने कहा कि यह मेरा फैसला बिल्कुल नहीं है? दरअसल पार्टी के आलाकमान ने यह फैसला किया कि चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष की गद्दी पर बिठाया जाए। उनका मानना था कि चिराग युवा नेता है और वह युवा सोच को बहुत अच्छे से समझते हैं। इसलिए वह इस पद के लिए एक अच्छे उम्मीदवार साबित होंगे।

political-story-ram-vilas-paswan-had-assets-of-1-42-crores-chirag-paswan-is-more-richer-than-his-father
Social Media

रामविलास पासवान ने उस दौरान कहा था कि आज मैं खुद चिराग पासवान से काफी मुद्दों पर सलाह लेता हूं। चिराग की सोच एक युवा सोच है और चिराग हर मुद्दे को एक नए तरीके से देखते हैं। पार्टी को उनकी सोच काफी पसंद आती है यही कारण है कि आज पार्टी की कमान चिराग के हाथ में है।