किसान आंदोलन: महिलाओ ने बीच सड़क बनाया किचन, किसानों के साथ पुलिस-पत्रकारों को भी दे रहीं खाना

0
16

सरकार द्वारा पास किए कृषि कानून को लेकर भारी मात्रा में विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है और ऐसे में पंजाब के जिले से हज़ारों महिलाएं प्रदर्शन करने दिल्ली के बॉर्डर पर पहुंची. कई महिलाओं के साथ उनके बच्चे भी हैं, जो गाड़ियों के अंदर या फिर सड़क पर खुले में सो रहे हैं. उनकी जिद है कि जब तक सरकार उनकी मांगे पूरी नहीं करेगी तब तक वह वापस नहीं लौटेंगे.

पश्चिमी दिल्ली पर हरियाणा से सटे टिकरी बॉर्डर पर भारी मात्रा में हो रहे प्रदर्शन में महिलाओं ने हिस्सा लिया और इनके इस जुनून को देख साफ़ हो गया है कि वह केंद्र सरकार को कृषि कानून वापस लेने पर मजबूर कर देंगी.

Social Media

भारतीय किसान यूनियन नेता सिंगारा सिंह ने कहा कि “इस प्रदर्शन में लगभग 15 हज़ार महिलाएं जिसमे बुज़ुर्ग महिलाएं भी शामिल हैं, जो इस किसान आंदोलन को समर्थन देने पहुंची हैं”. ऐसे में 40 साल की महिला परमजीत कौर ने कहा कि “हम दिल्ली की ठण्ड से परेशान होने वालों में से नहीं हैं. यह हमारी लम्बी लड़ाई है, जिसके लिए वह सभी संघर्ष के लिए तैयार हैं”. इतना ही नहीं, संगठन के नेता हरिंदर कौर बिंदू का कहना है कि “इस प्रदर्शन को महिलाएं अपना पूरा समर्थन दे रही हैं”.

Social Media

जानकारी के लिए बता दें, महिलाएं अपने साथ खाना बनाने का सामान और कपडे साफ़ करने की व्यवस्था भी साथ लेकर चली हैं. वह किसानो के साथ-साथ वहां मौजूद पुलिस वालों और पत्रकारों को भी खाना दें रही हैं. सभी महिलाएं वहां मौजूद ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सो रही हैं, जो अस्थायी शेल्टर हाउस बन गया है. कुछ महिलाएं अपने बच्चों को भी साथ लेकर आईं हैं और बच्चे अपने साथ पढ़ने लिखने का सामान साथ लाएं हैं.