मर्सिडीज में घूमने वाले विनोद खन्ना की एक गलती के कारण जब उनका कैरियर बर्बाद हो गया था, न घर बचा न जेब में पैसे

0
2




बॉलीवुड के शानदार एक्टर विनोद खन्ना ने फिल्म इंडस्ट्री में काफी नाम कमाया है। उन्होंने अपनी करियर में कई सुपरहिट फिल्में दी है। ऐसा माना जाता था कि जब वह अपने करियर में एकदम सिर्फ स्थान पर थे, तब अमिताभ बच्चन भी उनके सामने फीके पड़ते थे। लेकिन उनकी जिंदगी में कुछ ऐसे दौर आये जिससे उनका अच्छा खासा करियर खत्म हो गया था। जिसे उन्होंने 1982 में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था।

प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातचीत में उन्होंने बताया था कि उन्होंने अचानक से बॉलीवुड को अलविदा कहने का ऐलान कर दिया था। तमाम दौलत शोहरत को छोड़कर वह आध्यात्मिक गुरु आचार्य रजनीश के पास अमेरिका चले गए थे। वहीं उनके आश्रम में विनोद खन्ना एक सादा जीवन व्यतीत करने लगे थे, लेकिन 5 साल के बाद उनका मन वहां से उखड़ गया और फिर उन्होंने बॉलीवुड की ओर अपना रुख मोड़ लिया।

आपको जानकारी के लिए हम बता दें कि उन्होंने 1971 में कॉलेज की दोस्त गीतांजलि से विवाह किया था। इसके बाद 1975 में उनके दो बेटे थे, लेकिन वह सब कुछ छोड़ कर अमेरिका चले गए थे। बाद में उनकी पत्नी ने भी उनसे दूरी बना ली थी।

सूत्रों के अनुसार बताया जाता है कि जब विनोद अमेरिका से वापस आये थे तब उस वक्त ना उनके पास रुतवा बचा था और ना ही उनकी आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए पैसे। उसके बाद उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा। इसके बाद से वह अक्सर टैक्सी में फिल्म डायरेक्टर के पास ऑफिस में चक्कर काटते हुए दिखाई पड़ते थे।

जिसके बाद से उनको महेश भट्ट और मुकेश भट्ट ने सहारा दिया था। उन्हें फिर कुछ फिल्में मिली और उनकी मुलाकात मसूर बिजनेसमैन सरयू दफ्तरी की बेटी कविता दफ्तरी से हुई। कुछ समय के बाद वह एक दूसरे को डेट करने लगे थे। साल 1990 में दोनों की शादी भी हो गई थीं, लेकिन कविता करीब उनसे 16 साल छोटी थी। इतनी कम उम्र की लड़की से शादी करने के कारण सभी हैरान रह गये थें।

कविता और विनोद खन्ना के दो बच्चे भी हैं बेटे का नाम साक्षी और बेटी का नाम श्रद्धा है। विनोद खन्ना की जिंदगी की फिर से साधारण तो हो गई लेकिन पहले जितना रुतबा और नाम था, वह उन्हें फिर कभी हासिल नहीं हो पाया।