इस गांव में बरसे सोने के बिस्किट, लूटने के लिये मची होड़, टॉर्च लेकर पहुंचे लोग

0
2197

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोना मिलने का पता चलने पर दूर-दूर के लोग अपने गाड़ी वाहनों पर सवार हो-होकर वहां पहुंचे, काफी लोग तो टॉर्च लेकर आये थे।

New Delhi, Oct 15 : आप क्या करेंगे, जब आप ये सुनेंगे कि आसमान से सोना बरसा है, पास में ही कही पड़ा हो तो बटोरने पहुंच ही जाएंगे ना, ऐसा ही हुआ है गुजरात के सूरत में, जहां सूरत हवाई अड्डे के पास डुम्मस गांव में गुरुवार रात सोने की ईटों के आकार की चीजें आसमान से गिरी, जैसे ही लोगों को इन बात जानकारी मिली, सब उन्हें लूटने दौड़ पड़े।

हवाई अड्डे से कुछ दूर अनोखी घटना
कुछ लोगों के हाथ ये चीजें लग गई, ये सोनो के बिस्किट थे, यूपी में कहीं-कहीं इन्हें सोने की ईटें भी कहा जाता है,  सूरत में ग्रामीणों को ये सड़कों पर गांव के आस-पास की झाड़ियों में पड़ी मिली, कई गांव वालों ने कहा कि ऐसा इसलिये हुआ होगा, कि कोई विदेश से सोना लाया होगा और हवाई अड्डे पर सिक्योरिटी से पकड़े जाने के डर से रात में उड़ते प्लेन से ही नीचे फेंक दिया होगा।

छोटे-छोटे साइज के बिस्किट
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोना मिलने का पता चलने पर दूर-दूर के लोग अपने गाड़ी वाहनों पर सवार हो-होकर वहां पहुंचे, काफी लोग तो टॉर्च लेकर आये थे, ताकि झाड़ियों में अंधेरे के समय सोना खोजा जा सके, हालांकि अभी तक ये प्रमाणित नहीं हुआ है कि जो चीज लोगों को मिली है, वो सोना ही था, या कुछ और, लेकिन देखने में तो सोना की तरह ही लग रहा है। ये बिस्किट टाइप चीज छोटे बड़े आकार की है, जिन्हें टटलू काटने वाले या ठग सोने की ईंट बताकर महंगे दामों में बेचते हैं, बहरहाल सूरत में डुम्मस गांव और आस-पास के लोगों ने सोने की ऐसी ईंटों का बटोरा, उसके बाद घरों को चलते बने, ऐसा बताया जा रहा है कि गांव के बाहर सड़क से गुजर रहे कुछ लोगों को सड़क पर सोने की तरस चमकती हुई ये चीज मिली।

टॉर्च जलाकर खोजते रहे
उन लोगों ने बताया कि कुछ बुजुर्ग कहने लगे कि डुम्मस गांव के बाहर सोने की बारिश हुई है, ये खबर आग की तरह फैल गई, कुछ देर बाद लोगों की भीड़ जुट गई, आस-पास के कस्बों के लोग भी आने लगे, फिर रात भर सोने की ईंटें खोजते रहे, इस दौरान सैकड़ों टॉर्च की रोशनी दमकते दिखाई दी। मौके पर जिसको भी वस्तु मिली, वो बिना किसी को कुछ बताये चुपचाप चलता बना, लेकिन जिसे नहीं मिला, वो निराश होकर लौटा।